सोमवार, 17 जून 2019

उत्तर प्रदेश की बाल साहित्य लेखिका : मानवती आर्या

 मानवती आर्या

 जन्म तिथि  : 30 अक्टूबर 1920

 जन्म स्थान  : मैकटीला नगर, म्यामा, बर्मा

 प्रकाशित साहित्य : दादी अम्मा मुझे बताओ, दादी अम्मा की सीख, देश का भविष्य, बात चीत की कला, भारत भक्त विदेशी महिलाएं, प्रतिष्ठा आदि पुस्तकें बहुचर्चित। विविध पत्र-पत्रिकाओं में बालसाहित्य की  रचनाएँ प्रकाशित। समन्वय नाम से बच्चों के नीतिपरक दोहों का सृजन-प्रकाशन।
पुरस्कार : भारतीय बाल कल्याण संस्थान, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान से सुभद्रा कुमारी चौहान बाल साहित्य सम्मान आदि

साहित्यिक उपलब्धियाँ : पहली कविता 1936 में शांति मासिक, लाहौर में छपी। राष्ट्रीय स्तर की बालसाहित्य संगोष्ठियों एवं समारोहों में  सहभागिता। 1984 से 1994 तक मासिक पत्रिका ‘बाल दर्शन का संपादन-प्रकाशन कर बाल साहित्य को लोकप्रिय बनाने और बाल हित चेतना की दिशा में उल्लेखनीय कार्य। बाल सेवक बिरादरी संस्था के द्वारा भी बच्चों के लिए विशेष रूप से कार्य किया। भारत आने से पूर्व बर्मा में दयानन्द प्राइमरी स्कूल और रंगून विश्व भारती अकादमी, तत्पश्चात 1954 से 1983 तक कानपुर में  हिंदी अध्यापिका के रूप में बच्चों को साहित्यिक संस्कार देने में आपकी विशेष लोकप्रियता रहीं। 
अन्य : आजाद हिंद फौज की रानी झाँसी रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट रहीं। 

सम्पर्क सूत्र : 110 MIG, पत्रकारपुरम, कानपुर -208002 (उत्तर प्रदेश)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें